UP Bal Shramik Vidya Yojana 2022: Online Apply, Registration Form (यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना आवेदन)

UP Bal Shramik Vidya Yojana 2022 Online Apply |up bal shramik vidya yojana registration | up bal shramik vidya yojana online form | up bal shramik vidya yojana registration form |

Bal Shramik Vidya Yojana की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा की गयी है. इस योजना के बारे में यूपी के मुख्यमंत्री जी ने हाल ही में अनाउंसमेंट किया है. इस योजना के तहत राज्य के श्रमिक परिवार के बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के लिए सरकार की तरफ से सहायता की जाएगी. इस लेख में हम आगे इस योजना के बारे में पूरी जानकारी जानने वाले हैं और साथ में हम आपको इस योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया भी बताने वाले हैं. इस पोस्ट को ध्यानपूर्वक अंत तक जरुर पढ़ें.

दोस्तों आप सभी को पता होगा की राज्य में बहुत सारे श्रमिक परिवार हैं जो रोजाना काम करके अपना जीवन यापन कर पाते हैं. उनका उतना अधिक आय नही होता है, जिससे वो बचत कर पाए. वे लोग रोज कमाते हैं और फिर अपने परिवार की पालन पोषण करते हैं. ये लोग अपनी आर्थिक स्तिथि के कारण अपने बच्चे को सही शिक्षा प्रदान नही कर पाते हैं. कुछ श्रमिक लोग मजदूरी करके अपने बच्चे को किसी तरह बुनयादी शिक्षा प्रदान कर भी देते हैं तो आगे की पढाई नही कर पाते हैं. ऐसे में बच्चे को कम ही उम्र से मजदूरी या कोई दूसरा काम करना पड़ता है.

ऐसे परिवारों की मदद करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार अब आगे आ रही है. अभी हाल ही में मुख्यमंत्री योजी जी ने यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत की है, जिसके तहत ऐसे ही गरीब परिवार के बच्चों की पढाई के लिए सरकार आर्थिक मदद करेगा. इस योजना के बारे में announce करते हुए योगी जी ने इसको जल्द से जल्द शुरू करने का भी आदेश दिया है. अभी बहुत ही जल्द इस योजना को शुरू करने जा रहा है.

इस लेख में आगे हम इस योजना के बार में पूरी जानकारी जानने वाले हैं की इस योजना का लाभ लेने के लिए क्या क्या योग्यताएँ एवं पात्रता है? इस योजना के लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं? इससे सम्बन्धित और भी बहुत सारी जानकारी आगे पोस्ट में बताया हुआ है.

Up Bal Vidya Yojana Cm Yogi
Up Bal Vidya Yojana Cm Yogi

UP Bal Shramik Vidya Yojna 2020 Online Apply

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा विश्व बाल श्रम दिवस पर “बाल श्रमिक विद्या योजना” की शुरुआत की गयी है. इस योजना के तहत राज्य के श्रमिक परिवार के बच्चों को अच्छी शिक्षा ओरदन करने के लिए उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे. इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के अनाथ बच्चों तथा मजदूर परिवार के बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी. इस योजना के तहत लाभार्थी बालकों को ₹1,000 और बालिकाओं को ₹1,200 की धनराशी प्रतिमाह देने का प्रावधान है. इसके अलावा जब छात्र 8, 9, व 10 वीं कक्षा में उत्तीर्ण कर लेंगे, प्रतिवर्ष ₹6,000 की अतिरिक्त प्रोत्साहन धनराशी दी जाएगी.

इस योजना के बारे में माननीय मुख्यमंत्री जी ने अभी अनाउंसमेंट किया है और इसपर जल्दी काम किया जा रहा है. जैसे ही इसपर काम पूरा हो जायेगा फिर इस योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया भी पता चल जायेगा. इस योजना के बारे में और भी बहुत सी जानकारी निचे विस्तार से बताया गया है. चलिए हम इन सभी जानकारी को विस्तार से जानते हैं.

UP-Bal-Sharamik-Vidya-Yojana online apply

यूपी बाल श्रमिक योजना विवरण

योजना का नामयूपी बाल श्रमिक विद्या योजना
घोषणा की गयीउत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
राज्यउत्तर प्रदेश
लाभार्थीराज्य के श्रमिक और असहाय परिवार के बच्चे
उद्देश्यश्रमिक परिवार के बच्चो को बेहतर शिक्षा प्रदान करने में आर्थिक मदद करना
आवेदन करने का तरीकाऑनलाइन
अधिकारिक वेबसाइटअभी उपलब्ध नही है

UP Bal Shramik Vidya Yojana 2022 Registration का उद्देश्य

जैसा की आप सभी जानते होंगे की राज्य में ऐसे बहुत से गरीब मजदूर हैं जो रोजाना काम करके अपने परिवार को चालते हैं. ऐसे लोग डेली काम करते फिर अपने परिवार की पालन पोषण कर पाते हैं. ये लोग उतना बचत नही कर पाते हैं, जिससे वे अपने बच्चे को बेहतर शिक्षा प्रदान कर पाए. ऐसे में इन श्रमिक परिवार से आने वाले बच्चों का भविष्य बेहतर नही हो पाता है. इन्हें मजबूरी में बहुत कम उम्र से ही काम करना परता है.

उत्तर प्रदेश सरकार ऐसे ही बच्चों को शिक्षा प्रदान करने के लिए एवं उनके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए मुख्यमंत्री बाल श्रमिक योजना की शुरूआत की है. इस योजना का मकसद आप सभी जान ही गये होंगे की इसका उद्देश्य राज्य के असहाय और श्रमिक परिवार से आने वाले बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करना है. ताकि ऐसे बच्चों का भविष्य बेहतर हो सके और वे अपने देश को आगे बढाने के मदद करे. इस योजना का उद्देश्य बाल श्रम की प्रथा को ख़त्म करना है.

बाल श्रमिक विद्या योजना के लाभ

  • इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गरीब और असहाय बच्चों को दिया जायेगा.
  • इस योजना के तहत श्रमिक परिवार के बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान की जाएगी.
  • इस योजना से ऐसे बच्चों का भविष्य बेहतर हो पायेगा जिन्हें गरीबी के कारण कम उम्र से ही मजदूरी करना परता है.
  • बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत विद्यार्थी बालकों को 1000 रुपये और बालिकाओं को 1200 रुपये प्रतिमाह दिए जायेंगे.
  • इस योजना के तहत राज्य के श्रमिक बच्चे 8वीं, 9वीं, 10वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं उन्हें 6000 रुपये प्रतिवर्ष की अतिरिक्त राशि राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी.
  • इस योजना के लिए बच्चे ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे. इसके लिए उन्हें इसके अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन देना होगा.
  • इस योजना से बाल मजदूरी की प्रथा को ख़त्म करने में बहुत ज्यादा मदद मिलेगा.

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक योजना के लिए जरुरी दस्तावेज एवं पात्रता:

  • इस योजना का लाभ केवल उत्तर प्रदेश के स्थायी निवासी को ही दिया जायेगा.
  • इस योजना के लिए आवेदक की न्यूनतम आयु 8 वर्ष और अधिकतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए.
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • स्कूल का पहचान पत्र, मार्कशीट, आदि
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • बैंक पासबुक का विवरण

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना का उद्देश्य:

  • उत्तर प्रदेश का श्रम विभाग योजना के कामकाज को देखेगा
  • योजना का लाभ उठाने वाली लड़की और लड़के को प्रति माह 1200 और 1000 का वजीफा दिया जाएगा।
  • योजना में नामांकन करने वाले उम्मीदवारों को आगामी सरकारी योजनाओं के लाभ होंगे।
  • सरकार उत्तर प्रदेश में अनाथ और श्रमिकों के बच्चों की पहचान करेगी और उन्हें इस योजना का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करेगी।
  • शुरुआत में, 57 जिलों से पहचाने जाने वाले 2000 छात्रों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • सरकार ने राज्य के कई जिलों में अटल आवासीय विद्यालय भी खोले हैं।

Mukhyamantri Bal Shramik Vidya Yojana Registration Form 2022 Online Apply

जो इच्छुक अभ्यर्थी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं वे निचे दी गयी जानकारी को ध्यान से पढ़ें . इसमें हमने आपको बताया हुआ है की आप इस योजना के लिए आवेदन कैसे कर सकते हो.

  • उत्तर प्रदेश सरकार के अनुसार, श्रम विभाग के अधिकारियों द्वारा बच्चों, ग्राम पंचायतों, स्थानीय निकायों के कार्यकारी अधिकारियों, चाइल्डलाइन या स्कूल प्रबंधन समिति का सर्वेक्षण / निरीक्षण करके कामकाजी बच्चों की पहचान की जाएगी।
  • यदि माता या पिता या दोनों एक लाइलाज बीमारी से पीड़ित हैं, तो उनके बच्चों का चयन किया जा सकता है। इसके लिए, गंभीर असाध्य बीमारी के संबंध में मुख्य चिकित्सा अधिकारी / चिकित्सा अधिकारी द्वारा जारी प्रमाण पत्र देना होगा।
  • भूमिहीन परिवारों और महिला प्रधान परिवारों के चयन के लिए 2011 की जनगणना के तहत सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना की सूची का उपयोग किया जाएगा।
  • प्रत्येक लाभार्थी के चयन की मंजूरी के बाद, इसे ई-ट्रैकिंग सिस्टम पर अपलोड किया जाएगा।

FAQs Regarding Bal Shramik Vidya Scheme

Share on:

Leave a Comment