Meri Fasal Mera Byora 2022: Registration,Check Status,e-Kharid,Last Date, Gate Pass| हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा

Meri Fasal Mera Byora Gate pass Last date | meri fasal mera byora registration, meri fasal mera byora haryana, meri fasal mera byora portal हरयाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन स्टेटस चेक | आवेदन करने की लास्ट डेट | Meri Fasal Mera Byora Registration

हरयाणा सरकार द्वारा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना की शुरुआत की गयी है, जिसके तहत राज्य के किसानों कई प्रकार के लाभ मिलने वाला है. इस योजना की शुरूआत पिछले साल ही की गयी थी. राज्य के सभी किसानों को इस योजना के तहत अपना पंजीकरण करवाना होगा. चूँकि अभी सरकार ने हाल ही में ऐलान किया है की केवल उन्ही किसानों को कृषि यंत्रों पर अनुदान एवं अन्य लाभ प्रदान किये जायेंगे जो मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत पंजीकृत होंगे.

अगर आप भी एक हरयाणा के किसान हैं तो यह पोस्ट आपके लिए महत्वपूर्ण हो सकती है. इस पोस्ट में हम आपको मेरी फसल योजना से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं. और यदि आपके मन में इससे सम्बन्धित कोई प्रश्न है तो आपको इस पोस्ट में आपके सभी प्रश्नों के उत्तर भी मिलने वाले हैं. इस लेख में हमने ऑनलाइन आवेदन के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान किया है और साथ ही अन्य जानकारी भी आपको इस पोस्ट में मिलने वाली है.

Content Summary

Meri Fasal Mera Byora Haryana

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना को हरयाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर खट्टर जी द्वारा शुरू किया गया है. इस योजना को वर्ष 2019 में लांच किया गया है. इस योजना के तहत सरकार ने एक ऑनलाइन पोर्टल तैयार किया है, जिसमे राज्य के किसानों को अपना पंजीकरण कर लेना होगा. पंजीकरण के बाद हरियाणा किसान अपने फसल का पूरा ब्यौरा पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज कर पाएंगे. इससे किसानों को फसलों की सुगम खरीद, मुआवजा, आर्थिक सहायता व् योजनाओं का सीधा लाभ देने के लिए इस पोर्टल की शुरुआत की गयी है.

इस पोर्टल को 2019 में ही लांच किया था और इसपर पंजीकरण की प्रक्रिया भी शुरू हो गयी है. इस पोर्टल पर राज्य के सभी किसानों को पंजीकरण करना अनिवार्य होगा, जबहि किसानों को बीमा कवर, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल का मुआवजा, कृषि यंत्र पर अनुदान, आदि सुविधाएँ प्रदान की जाएगी. आपको बता दें की पोर्टल पर रबी सीजन 2019-20 में 10.32 लाख किसानों में 64.67 लाख हेक्टेयर भूमि का पंजीकरण किया और 2020 में 8.78 लाख किसानों नी 48.72 लाख हेक्टेयर भूमि का पंजीकरण करवाया है.

MIS Portal Haryana DSE Login Page, MIS Haryana Login @hryedumis.gov.in

मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा का लेटेस्ट अपडेट

इस योजना के लेटेस्ट अपडेट के अनुसार 11 जनवरी 2022 से हरयाणा सरकार की स्कीमों के तहत यदि कृषि यंत्रों पर अनुदान प्राप्त करना चाहते हैं तो मेरी फसल मेरा ब्यौरा के तहत पंजीकृत होना अनिवार्य है. मतलब सरकर शब्दों में कहें को कृषि यंत्रों और उपकरणों पर केवल उन्ही किसानों को अनुदान दिया जायेगा, जो मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत पंजीकृत होंगे. अभी तक राज्य के जिन किसानों के अपना पंजीकरण नही किया है, जितनी जल्दी हो सके अपना पंजीकरण करा लें. पंजीकरण के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया 11 जनवरी से शुरू कर दी गयी है. इस योजना के तहत और भी बहुत सारे लाभ प्रदान किये जायेंगे, जिनके बारे में हम निचे विस्तारपूर्वक बात करने वाले हैं.

किसानों को पहले ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा अपने से या किसी नाजिदिकी सेवा केंद्र में जाकर अपना पंजीकरण कर लेना होगा. पंजीकरण के बाद सभी दस्तावेजों के साथ आपको सम्बन्धित कार्यालय में जाना होगा और वहाँ पर सत्यापन के लिए उन्हें जमा कर देना होगा. यदि आपका सत्यापन नही हुआ तो आपका आवेदन रद्द कर दिया जायेगा और बाद में किसी तरह का दावा स्वीकार नही किया जायेगा.

Meri Fasal Mera Byora Haryana Overview

योजना का नाममेरी फसल मेरा ब्यौरा, हरियाणा
विभागकिसान एवं कृषि मंत्रालय
शुरू किया गयामुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा
लाभार्थीराज्य के किसान
पोर्टल पर उपलब्ध सेवाएँकृषि सम्बन्धित सेवाएँ
मोडऑनलाइन
राज्यहरियाणा
अधिकारिक वेबसाइटhttp://fasal.haryana.gov.in/

Meri Fasal Mera Byora Portal से सम्बन्धित महत्वपूर्ण आंकड़े:

  • मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत 2019-20 के रबी सीजन में करीब 10.32 लाख किसानों ने 64.67 लाख हेक्टेयेर भूमि का पोर्टल पर पंजीकरण किया है.
  • वर्ष 2020 में करीब 8.78 लाख किसानों के 48.72 लाख हेक्टेयर भूमि का पंजीकरण किया है.
  • गुरुग्रं में 8 एकड़ भूमि पर फूलों की मंदी का कार्य शुरू कर दिया गया है और पिंजौर में एच.एम.टी की 78.33 एकड़ खाली भूमि पर सेब, अवन अन्य फल व् सब्जीमंदी का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है.
  • खरीफ सीजन 2020 में इस पोर्टल पर बाजरे की फसल के लिए 3,10,550 किसानों ने 12,26,460 एकड़ भूमि का पंजीकरण पोर्टल पर ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा किया है.
  • मंडियों में किसानों और आढतियों को 10 लाख रुपये का बिमा कवर प्रदान किया गया है.
  • खरीद बंद होने पर आढ़ती की दामी व लेबर की पेमेंट 15 दिन के भीतर करने का प्रावधान है. इस अवधि में भुगतान न होने पर 12 प्रतिशत वार्षिक दर से ब्याज का प्रावधान.
  • मंडियों में किसानों व् मजदूरों के लिए 10 रुपये प्रति थाली की दर से भोजन प्रदान की जाएगी. इसके लिए सरकार ने “अटल किसान मजोदूर कैन्टीन” योजना के तहत 12 जिलों में कैंटीन की शुरुआत कर दी है और 13 जिलों में जल्द शुरू होने का प्रावधान है.
  • कपास और धान पर मार्किट फीस व् ग्रामीण शुल्क 2 प्रतिशत से कम करके आधा प्रतिशत कर दिया गया है.
  • पहले 1.50 लाख रुपये तक के ब्याज मुफ्त फसली ऋण की सुविधा सहकारी एवं राष्ट्रीय बैंकों के माध्यम से करवाई जाती थी, जिन्हें अब बढ़ा कर 3 लाख रुपये तक कर दिया गया है.

Meri Fasal Mera Byora Registration

राज्य के जिन किसानों ने अभी तक अपना पंजीकरण नही किया है वे ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा अपना पंजीकरण कर सकते हैं. आप सभी को बता दें की फ़िलहाल पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है जो की कुछ ही समय के लिए ही होगी. इसलिए किसानों से अनुरोध है की जल्दी से जल्दी अपना पंजीकरण कर लें ताकि आपको बाद में किसी तरह की परेशानी का सामना नही करना पड़े. हम आपको पोस्ट में आगे इसके बारे में पूरी जानकारी प्रदान करने वाले हैं.

Haryana Parivar Pehchan Patra 2022: Online Apply, Update Details @meraparivar.haryana.gov.in

मेरी फसल मेरा ब्यौरा का उद्देश्य:

किसानों की समश्याओं को मद्दे नजर रखते हुए हरियाणा सरकार ने इस पोर्टल को शुरू किया है, जिसका मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को एकल पोर्टल पर जोड़ना है और उन्हें अनेक सेवाओं का लाभ प्रदान करना है. राज्य के काश्तकार अपने व्यक्तिगत, भूमि और फसल, बैंक, भुगतान विकल्प आदि विवरण ऑनलाइन दर्ज कर सके. जिससे किसानों को हरियाणा की मंडियों में उनकी फसलों की सुचारू खरीद में सहायता मिल सके. राज्य के सभी किसानों को एक मंच पर जोड़ा जा सकेगा और किसानों को अनेकों लाभ मिलेगा. चूँकि यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है, इसलिए यह मैन्युअल हस्तक्षेप से मुक्त है. इस पोर्टल पर कृषि से सम्बन्धित जानकारियां प्रदान की जाएगी और साथ ही बेहतर कृषि के लिए बुवाई, कटाई, बीज, उर्वरक, आदि के बारे में जानकारी दी जाएगी. इसके अलावा पोर्टल पर कृषि ऋण का पारदर्शी वितरण, कृषि उपकरणों पर सब्सिडी, प्राकृतिक आपदाओं के दौरान क्षति का आकलन और फसल क्षति के मामलों में राहत का वितरण जैसी सेवाएँ भी प्रदान की जाएगी.

इस पोर्टल से जुड़े हुए किसानों को कम समय में कोई भी लाभ प्रदान करने में सहायता मिलेगा. चूँकि इससे जुड़े किसानों का पूरा ब्यौरा सरकार के पास पहले से मौजूद होगा, इसलिए किसी भी ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी, प्राकृतिक आपदा के समय राहत के लिए किसानों को ज्यादा परेशान नही होना होगा. जब किसानों को पोर्टल का उपयोग करना ठीक से आ जायेगा तो इससे सरकार और किसानों के भी सीधा सम्बन्ध हो जायेगा. जिससे सरकार कोई भी लाभ सीधे किसानों को प्रदान कर पायेगी.

Benefits of Meri Fasal Mera Byora:

  • इस एकल पोर्टल से राज्य के सारे किसान जुड़े होंगे और उन्हें अनेकों लाभ प्रदान किया जायेगा.
  • इस पोर्टल पर किसानों की सभी जानकरी सुरक्षित रहेगा और ये सभी जानकारी उन्हें मंडियों में उनकी फसलों की सुचारू खरीद में सहायता प्रदान करेगी.
  • प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल की क्षति होने पर किसानों को मुआवजा दिया जायेगा.
  • इस पोर्टल पर ऋण की सुविधा की उपलब्ध कराई जाएगी. सरकार ने 3 लाख तक का ऋण प्रदान करने का फैसला किया है.
  • यहाँ से किसान कृषि यंत्रों एवं उपकरणों की सब्सिडी के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकता है.
  • खाद्य, बीज, ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी के लिए भी आवेदन कर सकते है.
  • राज्य के किसानों को बेहतर कृषि के लिए समय समय पर जानकारी प्रदान की जाएगी.
  • यहाँ पर कृषि से सम्बन्धित जानकारियां भी उपलब्ध करवाई जाएगी, जिससे किसान बेहतर फसल की तयारी कर पाएंगे.
  • राज्य के किसानों के लिए यह एक एकल मंच है, जहाँ पर किसानों को अधिक लाभ प्रदान करने के लिए अनेकों योजनायें उपलब्ध होंगी.

मेरी भूमि मेरी फसल योजना:

इस योजना के लिए पोर्टल 25.12.2018 को ही लांच किया गया था परन्तु इसमें पंजीकरण की सुविधा 04.07.2019 से शुरू किया गया है. इस पोर्टल पर राज्य के किसानों को पंजीकरण करते समय अपने व्यक्तिगत, भूमि और फसल विवरण, बैंक विवरण, भुगतान विकल्प आदि को भरना होगा. इन सभी डेटा की मदद से सरकार किसानों को मंडियों में बेहतर रेट प्रदान कराने में सक्षम होगा. यह पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है और यह हस्तक्षेप से पूरी तरह मुक्त होगा. इससे किसानों को उनके फसल का सही रेट मिलने में भी मदद मिलेगा. इस पोर्टल पर कृषि सम्बन्धित जानकारियां जैसे की बुवाई व् कटाई, बिज, उर्वरक, कृषि ऋण, कृषि उपकरणों पर सब्सिडी, प्राकृतिक आपदाओं के दौरान क्षति का आकलन और फसल की क्षति के मामलों में राहत का वितरण, आदि जानकारी प्रदान की जायेगी.

आवेदन प्रक्रिया के दौरान किसान की व्यक्तिगत जानकारी, जमीन व् बैंक खाता का विवरण (जिसमे उसकि बेचीं हुई फसल की भुगतान राशी का विवरण दर्ज किया जाता है), आदि जानकारी भरना होगा. इस जानकारी को किसान द्वारा सम्बन्धित मार्किट कमिटी के कार्यालय या ई-दिशा केंद्र पर जाकर पंजीकृत करवाया जा सकता है. पंजीकृत किसानों को 10 रुपया प्रति एकड़ (अधिकतम 50 रुपया प्रति किसान) की राशी उसके बैंक खातों में भी डाली गयी थी ताकि उनके बैंक खातों को सत्यापित किया जा सके.

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल को कृषि विभाग की सलाह पर सरकार के निर्देशों के अनुसार खोला जाता है. सामान्यतः खरीफ फसलों के लिए जुलाई व् रबी फसलों के लिए नवेम्बर में किसानों का पंजीकरण करने हेतु पोर्टल को खोला जाता है. यधपि जिन किसानों ने सही समय पर अपना रजिस्ट्रेशन नही पाया उन्हें इंतज़ार करना पर सकता है. एक बार पोर्टल बंद हो जाने पर सरकार के आदेश अनुसार ही खोला जाता है. इस योजना को किसी कानूनी धारा के तहत बनाया या लागु नही किया गया है.

राज्य के किसान यदि इस पोर्टल में अपना पंजीकरण नही करेंगे तो वे अपनी फसल को सरकारी खरीद में नही बेच सकता है, लेकिन वे अपनी फसल को किसी निजी खरीदार को मंडी में बेच सकता है. यदि आप अपने फसलों को सरकारी खरीद में बेचना चाहते हो तो इसके लिए “मेरी फसल मेरा ब्यौरा” योजना के तहत पंजीकरण करना अनिवार्य है. अंत में यह भी जानना बहुत जरुरी है की जब किसान पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कर लेंगे तो उन्हें बोर्ड की तरफ से कोई भी दस्तावेज नही जारी किया जाता है. उन्हें केवल पोर्टल का उपयोग करने के लिए पंजीकरण संख्या प्राप्त होता है.

किसानों की सहायता के लिए कॉल सेंटर भी बनाया जायेगा. जिससे जिन किसानों को योजना से सम्बन्धित किसी तरह का शिकायत या डाउट हो तो हेल्पलाइन नंबर पर कॉल कर सहायता प्राप्त कर पाएंगे. इसके लिए किसानों अपनी शिकायत कॉल पर ही बता सकते है और उनके शिकायत पर उनकी समश्या को जल्दी से जल्दी ठीक किया जायेगा. इसके लिए “ई खरीद” नाम से एक सॉफ्टवेर को स्थापित किया जायेगा ताकि किसानों की समश्या को बड़ी मात्रा में जल्दी से जल्दी ठीक किया जा सके.

पंजीकरण के लिए जरुरी दस्तावेज:

यदि आप इस योजना के तहत अपना पंजीकरण करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ जरुरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी. हम आपको इसके बारे में निचे पॉइंट में बता रहे हैं. आवेदन भरने से पहले ही इन दस्तावेजों को तैयार रखें.

  • आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए.
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • जमीन से सम्बन्धित कागजात
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक का विवरण
  • पहचान पत्रा
  • मोबाइल नंबर

Meri Fasal Mera Byora Registration – मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन करने हेतु ऑनलाइन प्रक्रिया

जैसा की हमने आपको ऊपर में भी बताया है की पंजीकरण की प्रक्रिया अभी फ़िलहाल शुरू कर दी गयी है. जिन किसानों ने अभी तक अपना पंजीकरण नही कराया है, वो जितनी जल्दी हो सके अपना पंजीकरण कर लें. क्युकी पंजीकरण की प्रक्रिया कभी भी बंद हो सकती है और एक बार बंद होने के बाद सरकार के अगले आदेश के बाद ही इसे खोला जायेगा. चलिए हम आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए स्टेप वाइज पूरी प्रक्रिया बता रहे हैं, ताकि आप अपने से घर पर ही पंजीकरण कर पाएंगे.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको मेरी फसल मेरा ब्यौरा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके भी जा सकते हो.
  • अब आपके सामने होमपेज खुल जायेगा. यहाँ आपको “किसान पंजीकरण (हरियाणा)” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • उसके बाद अगले पेज में आपको अपना मोबाइल नंबर एंटर करना होगा.
  • फिर “लॉग इन” बटन पर क्लिक करें.
  • आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा. उसके निचे एंटर करने के बाद ‘ओटीपी सत्यापित करें‘ बटन पर क्लिक करना होगा.
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 2
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 2
  • अगले पेज में आपको अपनी परिवार पहचान पत्र आईडी या फिर आधार संख्या एंटर करना होगा.
  • जानकारी भरने के बाद ‘जारी रखें‘ बटन पर क्लिक करना होगा.
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 3
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 3
  • अब निचे में आपके परिवार के सभी सदस्यों का लिस्ट आ जाएगा. आप जिस भी सदस्य के नाम से पंजीकरण करना चाहते हैं, उसे टिक करें और निचे “जारी रखें” बटन पर क्लिक करें.
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 4
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 4
  • अब अगले पेज में आवेदक का व्यक्तिगत विवरण दिखाई देगा. यहाँ आपको निचे ट्यूबवेल विवरण और बैंक विवरण भरना होगा.
  • उसके बाद निचे ‘जारी रखें‘ बटन पर क्लिक करना होगा.
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 5
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 5
  • अगले पेज में आपको लेफ्ट साइड में मुरब्बा संख्या या मालिक के नाम एंटर करके सर्च करना होगा.
  • फिर स्क्रीन के राईट साइड में आपको अपने जमीन के मालिक को खोजना होगा और उसे फिर करना होगा.
  • फिर निचे भूमि की लिस्ट और खसरा संख्या दिखाई देने लगेगा. यहाँ आपको जिस भूमि को जोड़ना है, उसे टिक करें और फिर निचे “भूमि विवरण जोड़ें” बटन पर क्लिक करें.
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 6
Meri Fasal Mera Byora Yojana Registration 6
  • अब आपके भूमि का विवरण जोड़ा चला जायेगा. उसके बाद आपको उसी तरह सभी भूमि विवरण को लिस्ट में जोड़ लेना होगा.
  • यहाँ फसल का विवरण जोड़ने के लिए आपको “फसल भरें” बटन पर क्लिक करना होगा.
Click On Fasal Bhare
Click On Fasal Bhare
  • अब एक पॉपअप आएगा, जिसमे आपको फसल ऋतु, फसल, बोया हुआ क्षेत्र, कनाल, मरला, मालिक से सम्बन्ध, मालिक, आदि जानकारी भरना होगा.
  • अब आपको “Add” बटन पर क्लिक करके फसल का विवरण ऐड कर देना होगा.
Fasal Ka Vivran Add
Fasal Ka Vivran Add
  • इसी तरह अन्य फसल विवरण भी जोड़ सकते हैं.
  • सभी भूमि विवरण और फसल विवरण को ऐड करने के बाद निचे में “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
  • अगले पेज में आपको फसल का भुगतान प्राप्त करने का आप्शन सेलेक्ट करना होगा.
  • फिर निचे में आपको क्रॉप वाइज मंदी डिटेल ऐड करना होगा. इसके लिए सामने “Add/Update” बटन पर क्लिक करके मंडी डिटेल्स को ऐड या अपडेट कर पाएंगे.
Select Payment Method
Select Payment Method
  • मंडी डिटेल्स भरने के बाद “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपका आवेदन सफल हो जायेगा. आपके स्क्रीन पर इसका मेसेज भी दिखाई देने लगेगा. स्क्रीन पर आपका पंजीकरण संख्या भी दिखाई देगा, इसे आपको सुरक्षित रखना होगा.
  • इस प्रकार से आप ऑनलाइन मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के लिए पंजीकरण कर सकते हैं.

Meri Fasal Mera Byora पंजीकरण प्रिंट करने की प्रक्रिया

यदि अपने पंजीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन कर दिया है और आप अपने एप्लीकेशन को प्रिंट करना चाहते हैं तो इसके लिए हम आपको निचे स्टेप वाइज पूरी जानकारी प्रदान कर रहे हैं. आप इन आसान स्टेप्स को फॉलो कर पंजीकरण प्रिंट कर सकते हो.

  • इसके लिए सबसे पहले मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके भी जा सकते हो.
  • उसके बाद आपको होम पेज पर ‘किसान अनुभाग‘ के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर अगले पेज में आपको “पंजीकरण प्रिंट (हरियाणा)” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा. जिसमे आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, और बैंक खाता नंबर एंटर करना होगा.
  • फिर आपको “प्रिंट करें” बटन पर क्लिक करना होगा.
Print Application
Print Application
  • अब आपका एप्लीकेशन फॉर्म स्क्रीन पर आ जायेगा. आप इसे प्रिंट आउट या सेव कर सकते हो.

Meri Fasal Mera Byora Registration बैंक विवरण बदलने की प्रक्रिया

यदि आपने ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन कर दिया है और आप अपने बैंक का विवरण चेंज करना चाहते हो तो इसके लिए हम आपको निचे स्टेप वाइज पूरी जानकारी बता रहे हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको हरियाणा फसल के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके भी जा सकते हो.
  • उसके बाद आपको होमपेज पर “किसान अनुभाग” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर अगले पेज में आपको “बैंक विवरण बदलें (हरियाणा)” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने एक नया पेज आ जायेगा. यहाँ आपको अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर एंटर करना होगा.
  • उसके बाद कैप्चा भरकर “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
Change Bank Details
Change Bank Details
  • आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा. उसे वेरीफाई करने के बाद आप अपने बैंक का विवरण आसानी से बदल पाएंगे.
  • इस तरह से आप बैंक डिटेल्स आसानी से चेंज कर सकते हो.

मेरी फसल मेरा ब्यौरा ढ़ती द्वारा पड़ोसी राज्य के किसान का विवरण भरने की प्रक्रिया

अगर आप हरियाणा के परोसी राज्य के निवासी हो और आप पोर्टल पर अपना विवरण भरना चाहते हो तो इसके लिए हम आपको निचे स्टेप वाइज जानकारी प्रदान कर रहे हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको फसल हरियाणा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. उसके बाद आपके सामने होमपेज आ जायेगा.
  • यहाँ आपको “किसान अनुभाग” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अगले पेज में आपको “आढ़ती द्वारा पड़ोसी राज्य के किसान का विवरण भरें (केवल गेंहू के लिए)” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • आगे एक नया पेज आयेगा, जिसमे आपको अपना मोबाइल नंबर एंटर करना होगा.
  • उसके बाद कैप्चा एंटर करने के बाद “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
Aarhti Neibour State Details
Aarhti Neibour State Details
  • अब आपके मोबाइल पर एक ओटीपी प्राप्त होगा. ओटीपी वेरीफाई कर लेने के बाद आप अपना विवरण भर पाएंगे.
  • इस प्रकार से आप आढ़ती द्वारा पड़ोसी राज्य के किसान का विवरण भर सकते हो.

Meri Fasal Mera Byora पड़ोसी राज्य के किसान का पंजीकरण की प्रक्रिया

यदि आप हरियाणा के पड़ोसी राज्य से बेलोंग करते हो तो आप इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण कर सकते हो. इसके लिए हम आपको निचे स्टेप वाइज पूरी प्रक्रिया बता रहे हैं की मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के लिए दुसरे राज्य के लोग कैसे आवेदन कर सकते हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले Meri Fasal Mera Byora के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके भी जा सकते हो.
  • उसके बाद आपको होमपेज पर ‘किसान अनुभाग‘ के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर अगले पेज में आपको “पड़ोसी राज्य के किसान का पंजीकरण” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने एक नया पेज आ जायेगा. यहाँ आपको अपना मोबाइल नंबर एंटर करना होगा.
  • उसके कैप्चा भरकर ‘जारी रखें‘ बटन पर क्लिक करे.
Neibour State Registration
Neibour State Registration
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा. आपको उसे वेरीफाई कर लेना होगा,
  • ओटीपी वेरीफाई होने के बाद आपको किसान का विवरण, जमीन का विवरण, मंडी का विवरण, आदि जानकारी भरना होगा.
  • उसके बाद फॉर्म सबमिट कर देना होगा. इस तरह से आपका पंजीकरण संपन्न हो जायेगा.

Meri Fasal Mera Byora पड़ोसी राज्य पंजीकरण प्रिंट करने की प्रक्रिया

यदि आप पड़ोसी राज्य के निवासी हो और आपने मेरी फसल मेरा ब्यौरा के तहत अपना पंजीकरण कर दिया है तो आप निम्नलिखित तरीके द्वारा पंजीकरण प्रिंट कर सकते हो. हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी स्टेप वाइज बता रहे हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको मेरी फसल मेरा ब्यौरा हरियाणा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. उसके बाद आपके सामने होमपेज आ जायेगा.
  • यहाँ होमपेज पर आपको “किसान अनुभाग” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर अगले पेज में आपको “पंजीकरण प्रिंट (पड़ोसी राज्य)” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब एक नया पेज आ जाएगा. इसमें आपको आवेदक का नाम, मोबाइल नंबर, बैंक खाता नंबर एंटर करना होगा.
  • उसके बाद “प्रिंट करें” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
Other State Bank Details Change
Other State Bank Details Change
  • इस प्रकार से पड़ोसी राज्य के आवेदक आसानी से अपना पंजीकरण प्रिंट कर पाएंगे.

पड़ोसी राज्य बैंक विवरण बदलने की प्रक्रिया

इसकी प्रक्रिया भी बहुत आसान है, इसके बारे में हम आपको निचे विस्तार से जानकारी दे रहे हैं, ताकि आपको समझने में परेशानी न हो.

  • इसके लिए सबसे पहले आपको हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. उसके बाद आपके सामने होम पेज आ जायेगा.
  • यहाँ आपको “किसान अनुभाग” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • फिर आपको अगले पेज में “बैंक विवरण बदलें (पड़ोसी राज्य)” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब अगले पेज में आपको अपना मोबाइल नंबर और कैप्चा भरना होगा.
  • उसके बाद आपको “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा, उसे आपको वेरीफाई कर लेना होगा.
  • मोबाइल नंबर वेरीफाई हो जाने के बाद आपके सामने एक फॉर्म आ जायेगा. वहाँ आप अपने बैंक का विवरण चेंज कर सकते हो.
  • बैंक विवरण बदलने के बाद आपको फॉर्म को सबमिट कर देना होगा.
  • इस प्रकार से आप मेरी फसल मेरा ब्यौरा के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हो.

पड़ोसी राज्य के किसान जिनकी जमीन हरयाणा में है, वो अपना पंजीकरण कैसे करें?

यदि आप हरियाणा के किसी पड़ोसी राज्य से बेलोंग करते हो लेकिन आपका जमीन हरयाणा में है तो आप मेरी फसल मेरा ब्यौरा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हो. इसके लिए निचे में हम आपको स्टेप वाइज पूरी प्रक्रिया के बारे में जानकारी दे रहे हैं.

  • इसके लिए सबसे पहले मेरी फसल मेरा ब्यौरा के अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस लिंक पर क्लिक करके भी जा सकते हो.
  • उसके बाद आपके सामने होमपेज आ जायेगा. यहाँ आपको “किसान अनुभाग” पर क्लिक करना होगा.
  • आगे आपको “पंजीकरण (पड़ोसी राज्य के किसान जिनकी ज़मीन हरियाणा में है)” आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अगले पेज में आपको बाकि प्रक्रिया की तरह मोबाइल नंबर और कैप्चाएंटर करना होगा.
  • फिर “जारी रखें” बटन पर क्लिक करना होगा.
Registration Neibour State Land In Haryana
Registration Neibour State Land In Haryana
  • अब आपके मोबाइल पर ओटीपीआएगा, उसे आपको वेरीफाई कर लेना होगा.
  • ओटीपी वेरीफाई हो जाने के बाद आपको आवेदक किसान का विवरण, जमीन का विवरण, फसल का विवरण, आदि जानकारी भरना होगा.
  • सभी जानकारी भरने के बाद फॉर्म सबमिट करना होगा. फिर आपका आवेदन सफलतापूर्वक हो जायेगा.

मंडी वार गेट पास सूची कैसे देखें?

  • इसके लिए सबसे पहले आपको योजना के ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा. इसके लिए आप इस पर क्लिक करके जा सकते हो.
  • उसके बाद आपके सामने होमपेज आ जायेगा. यहाँ आपको “मंडी वार गेट पास सूची” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • अब आपके सामने एक नया पेज आ जायेगा. यहाँ आपको अपना डिस्ट्रिक्ट, क्रॉप, मंडी, एमएम/पीसी/एसवाई, डेट को एंटर करना होगा.
  • उसके बाद आपको “View List” के आप्शन पर क्लिक करना होगा.
Mandi War Gate Pass List
Mandi War Gate Pass List
  • अब आपके स्क्रीन पर मंडी वार गेट पास की सूची लिस्ट आ जाएगी.

Meri Fasal Mera Byora Helpline Number

हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों को योजना से सम्बन्धित शिकायत या डाउट के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. वैसे हमने इस पोस्ट में आपको योजना से सम्बन्धित सभी जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है. यदि आपको इसके बारे कोई डाउट या शिकायत है तो इसके हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हो. हम आपको इसके हेल्पलाइन नंबर और ईमेल आईडी के बारे में निचे बता रहे हैं-

टोल फ्री – 18001802117
हेल्पलाइन नंबर – 18001802060
ईमेल आईडी – hsamb.helpdesk@gmail.com

Share on:

Leave a Comment

×