Aatm Nirbhar Bharat Yojana 2022, Rahat Package (आत्मनिर्भर योजना पैकेज का लाभ किसको, कैसे मिलेगा)

aatm nirbhar bharat yojana online registration | aatm nirbhar bharat logo | aatm nirbhar bharat abhiyan upsc | aatm nirbhar bharat in english | aatm nirbhar bharat in hindi | aatm nirbhar bharat upsc | atma nirbhar bharat abhiyan package details | aatm nirbhar bharat loan

PM Modi Aatm Nirbhar Rahat Package: जैसा की आप सभी को मालूम चल रहा है की अभी हमारे देश में पिछले बहुत दिनों से lockdown चल रहा है. जिसके वजह से पुरे देश में तरह तरह के industries और business बंद हैं. जिसका असर हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर बहुत ज्यादा पड़ा है. इसी को देखते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 12 मई 2020 को राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए 20 लाख करोड़ की राहत पैकेज की घोषणा की है. इस कोरोना काल में आपदा को अवसर में बदलने के लिए मोदी जी ने आत्मनिर्भर भारत अभियान (Aatm Nirbhar Bharat Yojna) की शुरुआत की है. यह योजना निश्चित रूप से हमारे देश की अर्थव्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.

PM Modi Rahat package के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 20 लाख करोड़ जो की हमारे देश की जीडीपी का लगभग 10% है, दिया है. इसका लाभ देश के गरीब नागरिकों को व अन्य कई तरह के काम करने वाले गरीब मजदूर लोगों को अप्रत्यक्ष रूप से मिलेगा. यानि इसका लाभ आम लोगों को direct way में नही मिलने वाला है लेकिन indirect में इसका फायदा देश के सभी नागरिकों को होने वाला है. अगर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी चाहिए तो इस पोस्ट को last तक पढ़ते रहिये.

आप सभी को बता दें की कोरोना सर्वव्यापी महामारी के कारण सिर्फ हमारा देश ही नही बल्कि पूरी दुनिया परेशान है. इससे अभी तक लाखों लोगों की जाने भी जा चुकी है. और ये वायरस अभी भी कम होने का नाम नही ले रही है. इसके कारण पिछले 2 महीनों से हमारे देश में lockdown चल रहा है. इससे देश के इकॉनमी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है. इससे बहुत सारे लोगों की नौकरियां चली गयी है. साथ ही जो गरीब लोग रोज काम करके अपना घर चला पाते थे, उनके लिए और भी ज्यादा मुश्किल हो गया है.

महामारी को अवसर में बदलने के लिए हमारे माननीय प्रधान मंत्री मोदी जी ने lockdown की आर्थिक तंगी से निपटने के लिए कुछ 20 लाख करोड़ आर्थिक पैकेज की घोषणा की है. यह एक बहुत बड़ा अमाउंट है जो की हमारे देश के जीडीपी का लगभग 10% है. 12 मई 2020 को प्रधान मंत्री मोदी जी ने इस आर्थिक पैकेज के बारे में घोषणा किया और साथ ही देशवासियों को अन्य कई बाते बताई है. आज हम इस पोस्ट में जानने वाले हैं इस आर्थिक पैकेज का लाभी किसको मिलेगा? इसका लाभ आपको कैसे मिल सकता है? सभी जानकारी आगे हम जानने वाले हैं.

Aatm Nirbhar Yojna / आत्म निर्भर भारत योजना

आत्म निर्भर भारत योजना के नाम से ही आपको पता चल रहा होगा की इसका मतलब है की भारत के नागरिकों को, अर्थव्यवस्था को आत्म निर्भर बनाना है. अभी कोरोना महामारी के कारण हर छोटे बड़े बिज़नस बंद पड़े हैं, जो मजदूर काम करने के लिए दुसरे राज्य गये हुए थे, वो भी घर आ रहे हैं. क्योकि काम नही चलने के कारण उन्हें रहने में भी काफी कठिनाइयों का सामना करना पर रहा है. इससे हमारे देश की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा प्रभाव पड़ा है.

हालाँकि अभी भी कोरोना केस की संख्या बढ़ ही रहा है. लेकिन जिंदगी गुजारने के लिए काम काज का चलना बहुत जरुरी है. क्योकि हमारे देश में ऐसे बहुत से लोग हैं जिनका घर रोज काम करके ही चलता है, उन्हें ऐसे समय में बहुत परेशानी हो रही है. इसी को देखते हुए अब सरकार ने आत्म निर्भर भारत योजना के तहत 20 लाख करोड़ के पैकेज की घोषणा की है.

इससे हर तरह के छोटे व्यापारी को फायदा तो होगा ही साथ ही अप्रत्यक्ष रूप से भारत के सभी गरीब, मजदूर परिवारों को भी इसका लाभ मिलने वाला है. इससे उन लोगों को भी काफी फायदा होने वाला है जिनका घर रोज की कमाई से चलता है. इस योजना के अंतर्गत भारत के किसान, श्रमिक, मजदूर, छोटे और मझौले कारोबारी के साथ MSME उद्योग धंधा करने वाले व्यापारियों को भी ध्यान में रखा गया हैं.

PM Modi Aatm Nirbhar Bharat Yojna Highlights

योजना का नाम आत्मनिर्भर भारत अभियान आर्थिक पैकेज
अधिकृत द्वारा केंद्र सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
योजना आरम्भ तिथि 12 मई 2020
पैकेज धनराशी 20 लाख करोड़
अधिकारिक वेबसाइट Pmindia.gov.in
उद्देश्य भारत को आत्म निर्भर, समृद्ध, संपन्न बनाना

PM Modi Rahat Package का उद्देश्य

दोस्तों जैसा की मेने आपको ऊपर में बताया की अभी पूरा विश्व कोरोना शंकट से गुजर रहा है तो ऐसे में ज्यादातर देशों में अभी lockdown घोषित कर दिया गया है. जिससे सभी देशों के आर्थिक स्तिथि पर गहरा प्रभाव परा है. इससे निपटने के लिए भारत से पहले भी बहुत सारे अन्य देश आर्थिक पैकेज और नागरिकों  के लिए कई तरह के schemes की घोषणा की हैं.

हमारे देश के अर्थव्यवस्था पर भी बाहुत बुरा effect पड़ा है तो इसी से डील करने के लिए सरकार आत्म निर्भर भारत योजना के तहत आर्थिक पैकेज की घोषणा की है. इस पैकेज का मुख्य उद्देश्य है की देश के लोगों को कारोबार में आर्थिक सहायता और अन्य सहायता प्रदान करना है. जिससे हमारे देश की इकॉनमी बेहतर हो सके.

यदि आपने प्रधानमंत्री जी का भाषण सुना है तो आपको समझ आ गया होगा की इस योजना का उद्देश्य ये है की हमारे देश के नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करना जिससे वो अपने देश में रह कर किसी तरह का कारोबार करें और अपने देश को आगे बढाने का कार्य करें. यदि हम हमारे देश में रहकर ही कारोबार करेंगे तो बहुत कम समय में हमारा देश एक नई ऊँचाई पर चला जायेगा.

आत्म निर्भर योजना के लाभ

यह सवाल लगभग सभी के मन में होंगे की इस योजना का लाभ किनको मिलने वाला है तो में आप सभी को बता दूँ की इस योजना का लाभ सभी गरीब, मजदूर, किसान, छोटे और मंझोले व्यापारी अआदी को होने वाला है. आपको ये भी बताना चाहेंगे की इस योजना का फायदा indirectly देश के सभी लोगों को होने वाला है. क्योकि इसका लाभ direct रूप से सभी छते बड़े sector को दिया जायेगा. जिससे हमारे देश में नये नये अवसर प्राप्त होंगे, इससे हमारे तमाम देशवासियों को फायदा मिलेगा.

राहत पैकेज का लाभ किसको मिलेगा?

दोस्तों चलिए हम आपको निचे आपको बता रहे हैं की इस योजना का लाभ किसको किसको मिलने वाला है. वैसे मेने आपको ऊपर भी बताया है की इस योजना का लाभ देश के सभी नागरिकों को मिलने वाला है. किसी को directly इसका लाभ दिया जायेगा और किसी को indirectly दिया जायेगा.

  • 10 करोड़ मजदूरों को लाभ
  • इंडस्ट्री से जुड़े लगभग 3.8 करोड़ लोगों को इसका फायदा मिलेगा
  • MSME से जुड़े 11 करोड़ कर्मचारियों को इसका फायदा होने वाला है.
  • टेक्सटाइल से जुड़े लगभग 4.5 करोड़ लोगों को इसका फायदा मिलेगा.
  • देश के कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, लघु उद्योग और मंझोले उद्योग के लोगों को इसका फायदा पहुंचेगा. उनके लिए आजीविका का साधन उपलब्ध कराता है.
  • ऑटोमोबाइल सेक्टर एक योजना के लाभ से एक बार फिर से खड़ा हो जायेगा. आपको बता दें की यह sector देश में रोजगार के अवसर पैदा कराने में बहुत महत्वपूर्ण योगदान देता है.
  • आर्थिक राहत पैकेज से 20 लाख करोड़ रुपये परेशानी में झुंझ रहे सेक्टर्स, उद्योग और MSME को फिर से खड़ा करने के लिए दिया जायेगा.

MSME के तहत की गयी घोशनाएँ

कोरोना संकट ने देश की अर्थव्यवस्था को बहुत ज्यादा प्रभावित कर दिया है. इसलिए इस चुनौती पूर्ण समय में देश को आगे बढाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा सूक्षम लघु माध्यम वर्गीय गृह उपयोग (MSME) के लिए कई तरह की घोशनाएँ की है. आइये हम इन्घोश्नाओं के बारे में निचे विस्तार से जानते हैं.

  • MSMEs के लिए अन्य हस्तक्षेप
  • ईपीएफ अंशदान 3 महीने के लिए व्यापार और श्रमिकों के लिए कम हो गया।
  • ठेकेदारों (contractors) को राहत
  • टीडीएस / टीसीएस कटौती के माध्यम से 50000 करोड़ रुपये की Liquidity.
  • एनबीएफसीएस / एचसी / एमएफआई के लिए 30000 करोड़ रुपये की Liquidity सुविधा।
  • MSMEs सहित व्यापार के लिए रुपये 3 लाख करोड़ संपार्श्विक नि: शुल्क स्वचालित ऋण।
  • DISCOM के लिए 90000 करोड़ रुपये की Liquidity injection.
  • 3 और महीनों के लिए व्यापार और श्रमिकों के लिए 2500 करोड़ रुपये का ईपीएफ समर्थन।
  • MSMEs के लिए इस योजना से 20000 करोड़ रुपये का अधीनस्थ ऋण
  • MSMEs के फंडों के माध्यम से 50000 करोड़ रुपये का इक्विटी इन्फ्यूशन
  • ग्लोबल टेंडर 200 करोड़ रुपये तक का है
  • एनबीएफसी के लिए 45000 करोड़ रुपये की आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना।
  • RERA के तहत रियल एस्टेट परियोजनाओं के पंजीकरण और पूर्णता तिथि का विस्तार।
  • अन्य कर उपाय

ग़रीब, मजदूर और किसानों के लिए की गयी मुख्य घोशनाएँ

आप सभी को पता होगा की अभी सबसे ज्यादा तकलीफ हमारे देश के गरीब, श्रमिक और किसान भाई लोग झेल रहे हैं. क्योकि इन लोगों के पास बहुत सारा पैसा नही होता है. ये लोग रोजाना मेहनत करके अपने घर को चलाते हैं. इसलिए सरकार उन लोगों के लिए भी इस राहत पैकेज के अंतर्गत कई घोशनाएँ की है. चलिए इन घोषणाओं के बारे में विस्तार से जानते हैं.

  • किसानों और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को प्रत्यक्ष सहायता प्रदान की पोस्ट COVID-19।
  • प्रवासी श्रमिकों / शहरी गरीबों के लिए किफायती किराये के आवास परिसर (ARCH)।
  • CAMPA फंड का उपयोग कर 6000 करोड़ रोजगार आवसर
  • NABARD के माध्यम से किसानों के लिए 30000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त आपातकालीन कार्यशील पूंजीगत निधि।
  • स्ट्रीट वेंडर्स के लिए 5000 करोड़ रुपये की विशेष क्रेडिट सुविधा।
  • पिछले 2 महीनों के दौरान प्रवासी और शहरी गरीबों के लिए सहायता।
  • मुद्रा शिशु ऋण के लिए 1500 करोड़ रु।
  • प्रवासियों को वापस करने के लिए MGNREGS सहायता।
  • 2022- वन नेशन वन राशन कार्ड द्वारा भारत में किसी भी उचित मूल्य की दुकान से सार्वजनिक वितरण प्रणाली का उपयोग करने के लिए प्रवासियों को सक्षम करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्रौद्योगिकी प्रणाली।
  • श्रम संहिता में बदलाव- श्रमिकों के लिए लाभ।
  • 2 महीने के लिए प्रवासियों को मुफ्त भोजन की आपूर्ति।
  • सीएलएसएस के विस्तार के माध्यम से आवास क्षेत्र और मध्यम आय वर्ग को बढ़ावा देने के लिए 70000 करोड़ रु।
  • किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से 2.5 करोड़ किसानों को बढ़ावा देने के लिए 2 लाख रु।

किसानों की आय को दुगनी करने के लिए की गयी घोषाएं’

इस कोरोना महामारी के समय में सरकार किसानों को ध्यान में रखते हुए अपने इस पैकेज के अंतर्गत किसानों के लिए कई साड़ी घोशनाएँ की है. जिससे किसानों की आय को दुगनी होने में मदद मिलेगा. तो चलिए इन घोषणाओं के बारे में भी विस्तार से जानते हैं.

  • कृषि अवसंरचना की स्थापना के लिए 11 लाख करोड़ रुपये का कोष।
  • कृषि विपणन सुधारों को एक नए कानून के माध्यम से लागू किया जाएगा जो अंतरराज्यीय व्यापार के लिए बाधाओं को दूर करेगा।
  • 500 करोड़ रुपये के सभी फलों और सब्जियों को कवर करने के लिए ऑपरेशन ग्रीन का विस्तार किया जाएगा।
  • आवश्यक खाद्य पदार्थ जैसे अनाज, खाद्य तेल, तेल बीज, दालें, प्याज और आलू में संशोधन लाया जाएगा।
  • सूक्ष्म खाद्य उद्यमों के एक औपचारिककरण के उद्देश्य से एक नई योजना के तहत 10000 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है।
  • प्रधानमंत्री मातृ संपदा योजना के तहत मछुआरों के लिए 2000 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।
  • पशुपालन के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 15000 करोड़ रुपये का सेटअप किया जाएगा।
  • केंद्र सरकार हर्बल खेती के लिए 4000 करोड़ रुपये आवंटित करेगी।
  • मधुमक्खी पालन की पहल के लिए 500 करोड़ रुपये अलग रखे गए हैं।
  • किसान को सुविधात्मक कृषि उपज के माध्यम से मूल्य और गुणवत्ता आश्वासन दिया जाएगा।

Aatm Nirbhar Yojna

यह केंद्र सरकार द्वारा एक बहुत अच्छी पहल है, जिससे हमारे इकॉनमी को grow होने में मदद मिलेगी. जिससे हमारे देश की इकॉनमी बहुत कम समय में ज्यादा अच्छी हो जाएगी. तो आइये इस मुश्किल घडी में सरकार को हम सभी देशवासी मिलकर सहयोग करते हैं और देश को एक नई ऊँचाई पर लेकर चलते हैं. अंत में आप सभी से यही कहूँगा की यह योजना देश के अनेक वर्गों के लोगों के लिए विभिन्न अवसर लेकर आया है. इस अवसर को जाने नही दें. समाज के अन्त्य्धित कमजोर वर्ग जो अपनी गरीबी के कारण आगे नही बाढ़ पाते हैं, अभी सरकार उनको आगे बढ़ने में सहयोग कर रहा है तो इस अवसर को जाने नही दें. इससे आप अपने साथ साथ देश को भी बेहतर बना पाएंगे.

अशा है आप सभी को यह आर्टिकल पढने के बाद आत्म निर्भर योजना और राहत पैकेज से सम्बन्धित सभी जानकारी मिल गयी होगी. इससे सम्बन्धित यदि आपको कोई सवाल पूछना है तो हमें निचे कमेंट करके जरुर बताएं. इसी तरह के महत्वपूर्ण जानकारी को मिस नही करने के लिए Notification को on कर लीजिये. ताकि जब भी नई पोस्ट publish होगी आपको इसकी जानकारी पहले ही मिल जाएगी.

Share on:

Leave a Comment

×